ITI Electrician Tools ITI Electrical Tools Technician Tools

ITI Electrician Tools

ITI Electrician Tools ITI Electrical Tools Technician Tools In Hindi

  • कांबिनेशन प्लायर (Combination Plier)
  • स्क्रुड्राइवर (Screw Driver)
  • नोज प्लायर (Nose Plier)
  • हथोड़ा (Hammer)
  • सेंटर पंच (Center Punch)
  • इलेक्ट्रीशियन चाकू (Electrician Knife)
  • चीजल (Chisel)
  • हेक्सा (Hacksaw)
  • वायर स्ट्रिपर (Wire Striper)
  • क्रिंपिंग टूल (Crimping Tool)
  • वायर गेज (Wire Gauge)
  • इलेक्ट्रिक ड्रिल मशीन (Electric Drill Machine)
  • मैलेट (Mallet)
  • सोल्डरिंग आयरन (Soldering Iron)
  • पोकर (Poker)
  • फाइल (File)
  • स्टील रुल (Steel Rule)

Plier – प्लास वह औजार है जो छोटे छोटे जॉब या वस्तु को पकड़ने, काटने एवं मोड़ने के लिए काम आता है Pliers बहुत से शेप और sizes में पाए जाते हैं। यह मुख्यत माइल्ड स्टील से बनाया जाता है हत्था, रिबेट एवं जबड़ा इसके मुख्य भाग होते है इसके जबड़े कठोर एवं टैम्पर किए होते है इसलिए सही काम के लिए सही plier चुनना बहुत ज़रूरी है। प्लायर का साइज इसकी लम्बाई और बनावट से प्रकट किया जाता है.

  • इलेक्ट्रीशियन क्या होता है | इलेक्ट्रीशियन किसे कहते हैं | ITI इलेक्ट्रीशियन में कितने विषय होते हैं? – Click Here
  • स्पेनर क्या हैं ? स्पेनर क्या होते हैं ? स्पेनर किस धातु के बने होते हैं – Click Here
  • हैमर क्या है ? हैमर किस काम मे आता है ? हैमर किस धातु के बने होते है ? – Click Here
  • वाइस क्या है ? वाइस किसे कहते है ? वाइस के प्रकार ? वाइस किस काम मे आती है ? – Click Here
  • फिटर हैण्ड टूल्स Fitter Common Hand Tools Name In Hindi Information – Click Here

Pliers के प्रकार और उपयोग

ITI Electrical Tools

Side Cutting Plier – हर छोटे-बड़े वर्कशॉप में यह प्लास मिल जाते है। यह अधिकतर तांबे (Copper), एलुमिनियम (Aluminium) ओर लोहे (Iron) के वायर (Wires) काटने के काम में लाये जाते है इससे चपटी नाक प्लास या लाइनमैन का साइड कटिंग प्लायर भी कहते है जबड़ो के बीच में कटिंग एज बनी होती है जिससे तार को पकड़ा मोड़ा व काटा जा सकता है प्लास के हत्थे पर रबड़ का कवर चढ़ा रहता है इसका उपयोग बिजली के कामों में किया जाता है.

Round Nose Plier – इस प्रकार के प्लास के जबड़े लम्बे और आगे नुकीले होते है इसका प्रयोग छोटे हिस्सों को पकड़ने निकालने व फिट करने के लिए किया जाता है जहाँ पर दूसरे प्लायर का जबड़ा घुम नहीं सकता है बिजली एवं रेडियो मेकेनिक इसे अधिक प्रयोग करते है. 

Screwdriver – कई ऐसे कार्य होते है जो वर्कशॉप में हल्के और भारी दोनों प्रकार के कामों में किया जाता है जैसे की कभी कभी किसी इस प्रकार जिस टूल से किसी पेच को कसा या ढीला किया जाता है उससे पेचकस या स्क्रूड्राइवर कहते हैइनको बनाने के लिए इनकी शैंक हमेशा हाई कार्बन स्टील की रॉड का उपयोग किया जाता है.

Screwdriver Kit – इसका साइज इसकी लम्बाई से प्रकट किया जाता है वह कार्य के अनुसार 75mm से 300mm तथा और भी अधिक साइज में मिलते है स्क्रू ड्राइवर की शैंक हमेशा हाई कार्बन स्टील की रॉड का उपयोग किया जाता है। और इनकी शैंक का आकार वर्गाकार होता है। इसके ब्लेड को हार्ड एवं टेम्पर कर लिए जाता है स्क्रू ड्राइवर के हत्थे कठोर लकड़ी या प्लास्टिक के बनाए जाते है.

Ball Peen Hammer – हथौड़े का इस्तेमाल बड़ी बड़ी किलों को ठोकने के लिए धातुओं को पीटने के लिए मोड़ने आदि के लिए किया जाता है इसमें एक फेस, एक पीन, एक आई होल और एक हैंडल होता है। ये विभिन्न साइजों में पाए जाते हैं  और कुछ हथौड़े का इस्तेमाल कीलों को वापस निकालने के लिए भी किया जाता है और मार्केट में अलग अलग साइज के हथौड़े मिल जाते है जैसे की 500 ग्राम का हथौड़े 1 किलो का हथौड़ा ये कास्ट आयरन या हाई कार्बन स्टील का बना होता है और इसका का हैंडल अक्सर लकड़ी का बना होता है जो की इनके कार्य के अनुसार बनाए जाते है.

Straight Peen Hammer – इस हैमर का फेस चपटा तथा पीन का आकार उल्टे ‘वी’ के समान होता है इस हैमर का प्रयोग धातु को साइडों में फैलाने तथा सीधे कॉर्नर में चोट लगाने के लिए प्रयोग किया जाता है.

Cross Peen Hammer – इसका प्रयोग अधिकतर शीट के जॉब में नालियां बनाने के लिये, शीट के जॉब को मोड़ते समय उनके अन्दरुनी मोड़ पर चोट लगाने के लिये किया जाता है इस हैमर का फेस चपटा होता है और पेन हैंडल के क्रॉस में बनी होती है क्रॉस पीन हैमर धातु को एक दिशा मे फैलाने या शीट के किनारे मोड़ने के लिए प्रयोग में लाया जाता है.

Cold Chisel – चीजल एक प्रकार का ऐसा टूल है जिससे हम वर्कशॉप और कई स्थान पर प्रयोग करते है बिजली के काम में काफी इस्तेमाल की जाती है ज्यादातर इसका इस्तेमाल दीवारों में ईटों को तोडने में की जाती है ताकि कोई भी फिटिंग का पाइप लगा सके  यह एक हैंड कटिंग टूल है इसका प्रयोग वहाँ भी किया जाता है जहाँ हैक्सा व फाइल के द्वारा धातु को काटना मुश्किल हो यह हाई कार्बन स्टील की बनाई जाती है छैनी के कटिंग एज को जितने कोण पर ग्राइंड किया जाता है वहीं उसका कटिंग एंगल कहलाता है अलग अलग धातुओं के लिए अलग अलग कटिंग एंगल बनाये जाते हैं। कठोर धातु को काटने के लिए कटिंग एंगल अधिक रखा जाता है तथा नर्म धातु को काटने के लिए कम रखा जाता है.

चीजल निम्नलिखित प्रकार की होती है 

Technician Tools
  • फ्लैट चीजल 
  • वैब चीजल  
  • राउंड नोज चीजल 
  • साइड कट चीजल 
  • डायमण्ड पाइंट चीजल
  • हॉफ राउण्ड चीजल

Tenon Saw – लोहा काटने वाली आरी का इस्तेमाल लोहे की पाइप काटने के लिए लोहे की चादर और चैनल आदि काटने के लिए इस्तेमाल किया जाता है यह कई प्रकार की होती है कुछ आरी में हम एडजस्ट कर सकते है और कुछ आरी में फ्रेम को एडजस्ट कर सकते है इनका आकार और बनावट इनके काम के आधार पर की जाती है इसलिए मार्केट में कई प्रकार की आरी मिल जाती है इस आरी का इस्तेमाल दबाव समान मात्रा में होना चाहिए किसी भी वस्तु को काटते समय उस पर थोड़ा पानी डाल लेना चाहिए जिस से आरी का ब्लेड टूट न सके किसी भी वस्तु को काटते समय ज्यादा तेज गति से नहीं चलाना चाहिए और आरी को हमेशा जंग से बचा कर रखना चाहिए जिस से खराब न हो सके.

Adjustable Wrench – इसकी बनावट में दो जॉस होते हैं एक जॉ फिक्स्ड होता है तथा दूसरा मुवेबल होता है इस प्रकार के स्पेनर का प्रयोग अलग-अलग साइज के नट या बोल्ट को खोलने व कसने के लिए किया जाता है इस प्रकार के एडजस्टेबल स्पेनर के मुंह के साइज को घटाया बढ़ाया जा सकता है  इनका प्रयोग हल्के कार्यों के लिए किया जाता है स्पेनर भी कई प्रकार के होते है अलग अलग प्रकार के नट बोल्ट के लिए अलग अलग प्रकार के स्पेनर का प्रयोग किया जाता है.

Drill machine with Bits – ड्रिल एक प्रकार का कटिंग टूल होता है जिसकी मदद से हम किसी भी प्रकार लकड़ी या लोहा, पत्थर आदि इनमे सुराख कर सकते है  आपने कई किसी को ड्रिल करते हुए देखा होगा ड्रिल कई प्रकार की होती है और ड्रिल का इस्तेमाल हर वस्तु पर अलग अलग तरह से किया जाता है अगर हम लकड़ी की वस्तु पर ड्रिल कर रहे है तो उसकी बिट अलग होगी और अगर हम किसी लोहे की वस्तु पर ड्रिल कर रहे है तो उसकी बिट अलग होगी जैसी वस्तु होगी उसी तरह की बिट लगाई जाती है मशीन में इस लिए हमें अलग अलग प्रकार की बिट की जरूरत होती है बिट भी कई प्रकार की होती है.

Spanner Set – काम को आसान बनाने के लिए औजार का प्रयोग करते है जिस से हम किसी भी काम को जल्दी और आसानी से कर सकते है यह अलग अलग बोल्टों को खोलने के लिए और कसने के लिए अलग अलग प्रकार के स्पेनर को प्रयोग में लाया जाता है यह कई आकार के होते है.

Hacksaw Frame – फिटिंग कार्य में धातु की छड़ो, चादर तथा किसी भी प्रकार की अनेक वस्तुओं को काटने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है हैक्सा को हम आरी के रूप में भी जानते है यह ‘C’ Shape में होता है इसके एक सिरे पर फिक्स्ड स्कू् लगा होता है जिसमें अंदर की ओर पिन तथा बाहर की ओर हैण्डिल (Handle) लगा होता है स्लाइडिंग स्कू् के दूसरे सिरे पर चूड़ियां कटी होती है जिन पर पंख डिवरी (Wing Nut) चढ़ी होती है जिसको बाइंग नट कहा जाता है जिसमें फ्रेम के अंदर की ओर पिन लगी होती है दोनों पिन हेक्सा ब्लेड में बने छिद्रों में लगा दी जाती हैं तथा इसके बाद बाइंग नट को कसने पर ब्लेड टाइट हो जाता है इसके बाद हेक्सा से कोई भी काटने वाला काम आसानी से कर सकते है.

Tool Case – Set of 40 Pieces – जहाँ पर डी स्पेनर सेट और रिंग स्पेनर सेट काम नहीं कर पते है वहां पर बोल्ट खोलने के लिए स्टूल केस सेट का प्रयोग किया जाता है कई जगह बोल्ट नहीं खुलते बहुत अंदर की और लगे होते है तो इस टूल किट से हर तरीके का बोल्ट खुल सकता है.

Try Square – ट्राई स्क्वायर यह एक मापक औजार है  जिसका प्रयोग जॉब के समकोण को चेक करने के लिए व जॉब की ऊपरी स्तर की समतलता को चेक करने के लिए तथा किसी भी जॉब को मापने को लिए ट्राई स्क्वायर का प्रयोग किया जाता है  यह दो भागों से मिलकर बना होता है, जिसमें पहला भाग ब्लेड तथा दूसरा भाग स्टॉक होता है। ब्लेड तथा स्टॉक को 90 डिग्री के कोण पर सेट किया जाता है इसमें पहला भाग ब्लेड हाई कार्बन स्टील का बना होता है तथा दूसरा भाग स्टॉक माइल्ड स्टील अथवा ढलवा लोहे का बना होता है ब्लेड 10 सेमी से 30 सेमी तक लम्बा होता है यह औजार वर्कशॉप की प्रत्येक शॉप में प्रयोग किया जाता है इसकी स्तर पर सेंटीमीटर एवं मिलीमीटर या इंच के चिन्ह अंकित होते है.

Steel Rule – स्टील रूल एक प्रकार का मापने वाला औजार है जिसका प्रयोग वर्कशॉप में किसी जॉब की माप लेने के लिए या चेक करने के लिए किया जाता है। इस पर इंच और सेमी के निशान बने होते हैं इसका साइज इस पर अंकित सेमी या इंच के निशानों के अनुसार लिया जाता है। जैसे- 6 इंच,12 इंच और 15 सेमी, 30 सेमी और प्रत्येक सेमी को 1मिमी, 1/2 मिमी में बाँटा जाता है स्प्रिंग स्टील एवं स्टेनलेस स्टील का बनाया जाता है.

स्टील रूल के प्रकार  

Technician Tools
  • हुक स्टील रूल 
  • स्टैण्डर्ड स्टील रूल
  • लचीला स्टील रूल

Phase Tester – इसका इस्तेमाल पेचकस के रूप में भी किया जाता है लेकिन लाइन टेस्टर का कार्य किसी भी तार में Phase को जांचने के लिए किया जाता है अगर आप को नहीं पता की किस लाइन में इलेक्ट्रिसिटी आ रही है या नहीं तो आप उस तार पर लाइन टेस्टर लगा कर उससे चेक कर सकते है लेकिन लाइन टेस्टर का इस्तेमाल ज्यादा टाइट पेच को खोलने के लिए नहीं किया जाता है और ना ही इस पर किसी भी प्रकार की हथौड़ी से चोट मरी जा सकती है जिस से लाइन टेस्टर खराब हो सकता है.

File – किसी भी धातु या किसी अन्य कठोर वस्तु की सतह पर से रगड़ कर पदार्थ को थोड़ी थोड़ी मात्रा में हटाने की प्रक्रिया को रेत ना कहते है किसी भी मशीन के दो पुरजो को आपस  में सही स्तर पर बनाने के लिए फाइल का प्रयोग किया जाता है जिस धातु के द्वारा उन सतहों को काटा जाता है उस रेतने वाले औजार का उपयोग किया जाता है  उससे रेती फाइल कहा जाता है रेती एक प्रकार का कटिंग हैंड टूल है इसके द्वारा जॉब को अलग अलग तरह से रेता जाता है.

हमें उम्मीद है आपको ITI Electrician Tools | ITI Electrical Tools | Technician Tools पोस्ट पसंद आई होगी और आपको टूल्स के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी यदि आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप हमारे इस Article को अपने मित्रों के साथ भी Share कर सकते हैं। दोस्तों अगर आपको इस Topic के समझने में कही भी कोई परेशांनी हो रही हो तो आप Comment करके हमे बता सकते है | इस टॉपिक के Expert हमारे टीम मेंबर आपको जरूर Solution प्रदान करेंगे.

Join Our Telegram 👉 Click Here

Leave a Comment

error: Content is protected !!